धर्म-संस्कृति

आज बसंत पंचमी पर सरस्वती माता का ऐसे करें पूजन, मिलेगा ज्ञान का खजाना

खबर को सुनें

बसंत पंचमी यानी माता सरस्वती को मनाने का दिन। मान्यता है कि इस दिन अगर माता सरस्वती की विधि-विधान से पूजा की जाए तो ज्ञान का खजाना मिलता है। माता का आशीर्वाद मिल जाए तो जिन्दगी में शुभ ही शुभ होता है। बसंत पंचमी 16 फरवरी 2021 दिन मंगलवार को मनाई जाएगी। मंगलवार को रेवती नक्षत्र होने से शुभ योग बनता है। शुभ योग में महा सरस्वती के लिए किए जाने वाला पूजन और यज्ञ आदि कर्म पूरे वर्ष के लिए शुभ होते हैं। विद्यालयों, शिक्षण संस्थानों में हर वर्ष सरस्वती पूजन और यज्ञ किए जाते हैं और सरस्वती मां के आशीर्वाद के साथ विद्या, विवेक और बुद्धि का आशीर्वाद भी प्राप्त करते हैं।


यह हैं सरस्वती पूजन के शुभ मुहूर्त
प्रातः काल 6:59 से 8:27 तक कुंभ लग्न (स्थिर लग्न)। उसके पश्चात 11:27 बजे से 13:23 बजे तक वृष लग्न ( स्थिर लग्न ) है। दोनों लग्न सरस्वती पूजन के लिए बहुत ही शुभ हैं। स्थिर लग्न में पूजा अपने साधक को पूर्ण लाभ देती है।



विद्यार्थी ऐसे करें पूजा
विद्यार्थी इस दिन प्रात:काल उठकर स्नान के पश्चात श्वेत अथवा पीत वस्त्र धारण करें। मां सरस्वती के चित्र के समक्ष सफेद पुष्प और पीला मिष्ठान चढ़ाएं और मां सरस्वती से विद्या और बुद्धि का आशीर्वाद लें।



सरस्वती वंदना:

या कुंदेंदु तुषार हार धवला या शुभ्र वस्त्रव्रिता |

या वीणा वरा दंडमंडित करा या श्वेत पद्मासना ||

या ब्रह्मच्युत शंकरा प्रभुतिभी देवी सदा वन्दिता |

सामा पातु सरस्वती भगवती निशेश्य जाड्या पहा ||

हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्।

वन्दे तां परमेश्वरीं भगवती बुद्धिप्रदां शारदाम् ।।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button