हिमाचल

गोविंद ठाकुर बोले, शानदार रहे जयराम सरकार के तीन साल

खबर को सुनें

कुल्लू। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा है कि प्रदेश में जयराम ठाकुर के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने तीन सालों में शानदार उपलब्धियां हासिल की हैं। समाज का कोई क्षेत्र नहीं, कोई व्यक्ति नहीं जहां विकास नहीं पहुंचा, जहां शासन नहीं पहुंचा हो। कोविड-19 संकट को लगभग एक साल हो रहा है, इसके बावजूद विकास के आंकड़े लोगों की आकांक्षाओं से कम नहीं हैं।
कुल्लू में शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में गोविंद ठाकुर ने कहा कि कोरोना के चलते तीन साल का जश्न बड़े स्तर पर नहीं, बल्कि सांकेतिक तौर पर वर्चुअली आयोजित किया जा रहा है। इस अवसर पर केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा दिल्ली से प्रदेश की जनता को संबोधित करेंगे, वहीं शिमला के पीटरहाॅफ से मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप, प्रभारी अविनाश राय खन्ना व सह प्रभारी टंडन संबोधित करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार व प्रेम कुमार धूमल भी वर्चुअली कार्यक्रम से जुड़ेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में एलईडी स्क्रीनें लोगों की सुविधा के लिए लगाई जा रही हैं। लोग इस कार्यक्रम की लाईव स्ट्रीमिगक को विशेष लिंक के माध्यम से घर बैठे अपने मोबाईल फोन से भी देख सकेंगे।
पहली ही कैबिनेट बैठक में बुजुर्गों को सम्मान
शिक्षा मंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने पहली ही कैबिनेट बैठक में बुजुर्गों को सम्मान प्रदान करने का निर्णय लिया। सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने की आयु को 80 साल से घटाकर 70 साल किया जिससे प्रदेश के लाखों वृद्वजनों को लाभ पहुंचा। राज्य में 5.69 लाख लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है जिसपर सालाना 428 करोड़ व्यय किए जा रहे हैं। विधवाओं व विकलांगजनों की पेंशन को बढ़ाकर 1000 रुपये प्रतिमाह किया गया है। 1.63 लाख से अधिक नये पेंशन के मामले स्वीकृत किए गए हैं।
गोविंद ठाकुर ने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को रसोई में धुएं से छुटकारा दिलाने के लिए उज्जवला तथा हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना की शुरूआत करके 2.78 लाख महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान करने वाला हिमाचल प्रदेश देश का पहला राज्य बना, जहां कोई भी घर बिना गैस कनेक्शन के नहीं है। आयुष्मान योजना की शुरूआत की गई जहां पांच लोगों के परिवार को सालाना 5 लाख का निःशुल्क उपचार सुविधा उपलब्ध करवाई गई। जो लोग आयुष्मान योजना में नहीं आ सके, उन्हें हिमकेयर योजना में लाया गया। लगभग 1.18 लाख लोगों के उपचार पर इसी साल 115.47 करोड़ की राशि खर्च की गई। प्रदेश में 58 निजी अस्पतालों सहित 195 अस्पतालों को योजना के तहत उपचार करवाने के लिए पंजीकृत किया गया है। आयुष्मान योजना में 3.30 लाख लोगों को शामिल किया गया है। 76805 परिवारों के उपचार पर इस साल 80 करोड़ व्यय किए गए हैं। किडनी, क्षयरोग, पार्किन्सन, मस्कुलर डिस्ट्राॅफी जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सहारा योजना प्रदेश सरकार ने शुरू की है जिसकेक तहत 2000 रुपये प्रतिमाह मरीज को प्रदान किए जा रहे हैं। गत अगस्त माह से यह राशि बढ़ाकर 3000 रुपये प्रतिमाह करने का निर्णय लिया गया है। 11 हजार से अधिक लोगों को 12.90 करोड़ की राशि प्रदान की जा रही है।
स्वाबलंबन योजना युवाओं के लिए बनी वरदान
मुख्यमंत्री स्वाबलंबन योजना पढ़े-लिखे युवाओं के लिए वरदान साबित हो रही है। योजना के तहत अपना उद्यम स्थापित करने के लिए 25 से 30 फीसदी तक उपदान प्रदान किया जा रहा है। इसके अलावा पहले तीन साल ब्याज पर भी 5 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। पर्यटन क्षेत्र को विकसित करने के लिए नई राहें, नई मंजिले योजना कारगर साबित हो रही है। विभिन्न आवास योजनाओं के तहत 10 हजार परिवारों को मकान देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत 3350 परिवारों को मकान स्वीकृत करके 81.83 करोड़ रुपये की राशि वितरित की गई।
गोविंद ठाकुर ने कहा प्रदेश सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में अनेक योजनाएं कार्यान्वित की हैं। ‘अखण्ड शिक्षा ज्योति, मेरे स्कूल से निकले मोती’ योजना के तहत बच्चों को प्रेरित करने के लिए शुरू किया गया। मेधा प्रोत्साहन योजना के लिए पांच करोड़ का बजट रखा गया है। इसके तहत 500 बच्चों का चयन किया जा रहा है। जल जीवन मिशन के तहत हर घर को नल और नल में जल को सुनिश्चित बनाया जा रहा है।
जनमंच बना लोगों का पसंदीदा कार्यक्रम, घर द्वार पर पाई राहत
गोविंद ठाकुर ने कहा कि जयराम ठाकुर ने जन-जन की समस्याओं का उनके घर-द्वार पर समाधान करने की सोची तो जनमंच को शुरू कर दिया। जनमंच लोगों के लिए आज पंसदीदा कार्यक्रम बन चुका है जहां एक मंच पर सरकार और प्रशासन से आम व्यक्ति अपनी समस्या माईक पर खड़े होकर सीधे तौर पर प्रस्तुत कर सकता है, प्रश्न पूछ सकता है। यही सही मायने में लोकतंत्र की खूबसूरती भी है। उन्होंने कहा अभी तक प्रदेश में 189 जनमंच आयोजित किए जा चुके हैं जिनमें 48,446 शिकायतें प्राप्त हुई और 91 प्रतिशत का समाधान किया गया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सेवा संकल्प 1100 में सूचना प्रोद्योगिकी का समुचित उपयोग किया जा रहा है। 1.51 लाख जन शिकायतें इस हेल्पलाईन के माध्यम से प्राप्त हुई जिनमें से 1.20 लाख का निपटारा किया जा चुका है। माई गोव पोर्टल की शुरूआत की गई जिसमें लोग अपने सुझाव दे रहे हैं।
कोविड मरीजों के लिए सुविधाओं की निगरानी
गोविंद ठाकुर ने कहा कि लाॅकडाउन के समय पीपी किट, प्रशिक्षण और कोरोना योद्धाओं द्वारा क्या कुछ किया जा सकता है, इस बारे कुछ जानकारी नहीं थी। सरकार ने कोरोना की दस्तक से पहले ये सारी व्यवस्थाएं करना आरंभ की। आज प्रदेश में 700 वेंटिलेटर हैं। कुल्लू की बात करें तो यहां क्षेत्रीय अस्पताल को जिला कोविड केयर सेंटर के तौर पर विकसित किया गया है और तमाम आवश्यक सुविधाएं इसके उपलब्ध करवाई गई हैं ताकि कोरोना पाॅजिटिव का उपचार यहीं पर हो सके। बहुत कम मरीजों को बाहर रेफर किया जा रहा है। कुल्लू जिला में 4328 मामले कोरोना पाॅजिटिव के आए, जिनमें से 4046 स्वस्थ होकर अपने घर गए। सक्रिय मामले 198 हैं और 84 मौतें हुई हैं। तेगू बेहड़ अस्पताल में कुल 304 मामले आएं जिनमें से 212 स्वस्थ हुए। 88 को रैफर किया गया। केवल चार मौतें हुई। 13 पाॅजिटिव महिलाओं की डिलीवरी करवाई गई। उन्होंने कहा कि जिला कोविड केयर सेंटर कुल्लू की वह निजी तौर पर निगरानी कर रहे हैं।

आने वाली है कोरोना वैक्सीन

उन्होंने कहा कि कोरोना की वैक्सीन आने वाली है और पुनः प्रदेश के विकास को चार गुणा गति से बढ़ाएंगे ताकि लोगों की आकांक्षाओं को पूरा किया जा सके। उन्होंने कोरोना की लड़ाई में समाज के एक-एक व्यक्ति से सहयोग की भी अपील की है। बंजार के विधायक सुरेन्द्र शौरी, जिला भाजपा अध्यक्ष भीमसेन सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button