देश-दुनिया

सांसद रामस्वरूप शर्मा का संदिग्ध हालात में निधन

खबर को सुनें

शिमला। हिमाचल प्रदेश के मंडी के सांसद 62 वर्षीय रामस्‍वरूप शर्मा का दिल्‍ली में संदिग्ध हालात में निधन हो गया। वह कुछ समय से अस्‍वस्‍थ थे। लेकिन अब उनके स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार बताया जा रहा था, अचानक उनके निधन की खबर आई है। बताया यह भी जा रहा है उन्‍होंने आत्‍महत्‍या की है और उनका शव घर में फंदे से लटका मिला है। लेकिन यह जानकारी अभी पुष्‍ट नहीं है। हिमाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने सांसद रामस्‍वरूप शर्मा के निधन पर शोक जताया है।  बीजेपी ने आज संसदीय बोर्ड की मीटिंग बुलाई थी, जिसे राम स्वरूप शर्मा की मौत के बाद कैंसल कर दिया गया है।



रामस्‍वरूप शर्मा ने 1985 तक एनएचपीसी में नौकरी की थी व कबड्डी के खिलाड़ी भी रहे। चंबा में इसी दौरान आरएसएस से जुड़ गए व प्रचारक बन गए। उसके बाद 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्‍हें भाजपा का टिकट मिला। रामस्‍वरूप शर्मा इस बार मंडी संसदीय क्षेत्र से दूसरी बार सांसद बने थे। 2014 में नरेंद्र मोदी की लहर के बीच उन्‍होंने कांग्रेस कद्दावर नेता एवं पूर्व मुख्‍यमंत्री वीरभद्र सिंह की पत्‍नी प्रतिभा सिंह को हराया था। सामान्‍य परिवार से संबंध रखने वाले रामस्‍वरूप शर्मा मूलत मंडी जिला के जोगेंद्रनगर के रहने वाले थे। संगठन के कार्यों में भी वह सक्रिय रहते थे। जिला मंडी के भाजपा अध्‍यक्ष रणवीर सिंह ने बताया कि सांसद के निधन की सूचना मिली है। पार्टी पदाधिकारी व कुछ उनके करीबी लोग दिल्‍ली के लिए रवाना हुए। 1958 में हिमाचल प्रदेश के मंडी में जन्मे राम स्वरूप शर्मा विदेश मामलों की संसदीय समिति का भी हिस्सा थे। परिवार में उनकी पत्नी और तीन बेटे हैं। बता दें कि बीते महीने ही दादर एवं नागर हवेली के सांसद मोहन डेलकर का शव भी मरीन ड्राइव के पास एक होटल से मिला था। पुलिस ने उनके आत्महत्या का संदेह जताया था। यही नहीं उनके कमरे से एक सुसाइड नोटिस भी बरामद हुआ था।



शोक जताया

रामस्वरूप शर्मा के निधन पर मुख्यमंत्री समेत कई नेताओं ने शोक जताया है। कैबिनेट मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने कहा कि मंडी के लोकप्रिय सांसद पंडित रामस्वरूप शर्मा के निधन का दुखद समाचार मिला। इस तरह अचानक उनका हम सभी को छोड़ कर चले जाना बहुत ही दुखद है । ईश्वर दिवगंत आत्मा को शांति प्रदान करें व परिवार को दुख सहने की शक्ति दें !!! कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि-मंडी के लोकप्रिय एवं ईमानदार सांसद श्री रामस्वरूप शर्मा जी के असामयिक निधन की खबर सुनकर मन बहुत दुखी है। यह मंडी एवं प्रदेश के लिए बहुत बड़ी क्षति है, जिसकी भरपाई नहीं हो सकती। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति तथा शोकग्रस्त परिवार को संबल प्रदान करें। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप ने कहा कि मंडी लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद , कर्मठ ,ईमानदार छवि के व्यक्ति ,संसद में मेरे साथी पंडित रामस्वरूप शर्मा जी के निधन से अत्यंत दुखी हूं। उन्होंने कहा उनका स्वभाव सरल एवं मधुरभाषी था, जन सेवा ही उनका उत्तम उद्देश था। यह मंडी एवं प्रदेश के लिए बहुत बड़ी क्षति है, जिसकी भरपाई नहीं हो सकती। ईश्वर दिवंगत पुण्यात्मा को शांति एवं सद्गति प्रदान करें और परिवार को इस असहनीय पीड़ा को सहन करने की शक्ति दें। उधर कांग्रेस नेता और विधायक विक्रमादित्य सिंह ने भी सांसद के निधन पर शोक जताया है।


भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने मंडी के सांसद रामस्वरूप शर्मा के परिवारजनों के साथ दिल्ली में हिमाचल सदन में मिलकर शोक व्यक्त किया।

किसने क्या कहा

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नडडा, पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल, पूर्व मुख्यमंत्री शान्ता कुमार, केन्द्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप, प्रदेश महामंत्री संगठन पवन राणा, सांसद किशन कपूर, इंदू गोस्वामी, प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण शर्मा, कृपाल परमार, राम सिंह, पुरषोतम गुलेरिया, संजीव कटवाल, रतन सिंह पाल, कमलेश कुमारी, धनेश्वरी ठाकुर, प्रदेश महामंत्री त्रिलोक जम्वाल, त्रिलोक कपूर, राकेश जम्वाल, प्रदेश सचिव पायल वैद्य, बिहारी लाल शर्मा, विशाल चैहान, कुसुम सदरेट, सीमा ठाकुर, वीरेन्द्र चैधरी, जय सिंह, श्रेष्ठा चैधरी, कोषाध्यक्ष संजय सूद, कार्यालय सचिव प्यार सिंह, मुख्य प्रवक्ता रणधीर शर्मा, प्रवक्ता बलदेव तोमर, प्रो0 राम कुमार, अजय राणा, विनोद ठाकुर, शशि दत शर्मा, उमेश दत शर्मा, मीडिया प्रभारी राकेश शर्मा, सह मीडिया प्रभारी नरेन्द्र अत्री, करण नंदा, सुमित शर्मा, अमित सूद, रजत ठाकुर, पूर्व सांसद वीरेन्द्र कश्यप, बिमला कश्यप सहित समस्त भाजपा कार्यकर्ताओं ने मण्डी से सांसद रामस्वरूप शर्मा के आकस्मिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है।
भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कहा कि रामस्वरूप शर्मा सरल व्यक्तित्व, मिलनसार एवं पार्टी के प्रति समर्पित कार्यकर्ता थे। उनके निधन से समस्त भाजपा परिवार सदमे में है। उन्होनें कहा कि रामस्वरूप शर्मा ने लम्बे समय तक पार्टी की सेवा की है और वे पहली बार वर्ष 2014 में मण्डी लोकसभा से सांसद निर्वाचित हुए थे उन्होनें पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की पत्नी को भारी मतों से हराया था। उसके बाद वर्ष 2019 में वे दूसरी बार मण्डी लोकसभा क्षेत्र से सांसद निर्वाचित हुए थे। रामस्वरूप शर्मा दो बार जिला मण्डी के महामंत्री रहे। वे 2000-2003 तथा 2009-2012 तक भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री रहे। इसके अतिरिक्त वे वर्ष 2013 तथा 2015 में दो बार प्रदेश उपाध्यक्ष रहे। इसके साथ-साथ उन्होनें संगठन के विभिन्न दायित्वों का निर्वहन बखूबी किया था। रामस्वरूप शर्मा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सक्रिय सदस्य थे तथा संघ में रहते हुए भी उन्होनें विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किया था।

भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कहा कि संसद में उन्हें रामस्वरूप शर्मा के साथ काम करने मौका मिला और इस दौरान उनसे काफी कुछ सिखने को भी मिला। उन्होनें कहा कि रामस्वरूप शर्मा के साथ उनके घनिष्ठ संबंध रहे हैं और अपने संसद सदस्य, संगठन के साथी एवं व्यक्तिगत मित्र को खोने की टीस सदा मन में रहेगी। उन्होनें कहा कि रामस्वरूप शर्मा ने संगठन के प्रति अपने सभी कर्तव्यों को निष्ठापूर्वक पूरा किया था। ऐसे कर्तव्यनिष्ठ एवं संगठन के प्रति समर्पित कार्यकर्ता के असामायिक निधन से पार्टी को अपूर्णीय क्षति हुई है जिसकी भरपाई निकट भविष्य में कर पाना अति कठिन होगा। उन्होनें रामस्वरूप शर्मा के परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि इस कठिन एवं दुख की घड़ी में पार्टी उनके साथ खड़ी है। भाजपा नेताओं ने दिवंगत आत्मा को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए ईश्वर से प्रार्थना की है कि उनकी आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दे व परिवार को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button