बिलासपुर, चंबा, हमीरपुरहिमाचल

मुफ्त इलाज : बिलासपुर जिले में गोल्डन कार्ड बनाने के लिए लगेंगे कैंप, देखिये ब्योरा

खबर को सुनें

बिलासपुर। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. प्रकाश दरोच ने बताया कि प्रदेश सरकार में केन्द्र सरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सितम्बर, 2018 से लागू की गई है। इस योजना के अंतर्गत अस्पताल में दाखिल होने पर परिवार को 5 लाख रुपये तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाती है। इस योजना में लगभग 1650 बीमारियों के निःशुल्क इलाज का प्रावधान है, जोकि प्रधानमंत्री जन आरोग्य से सम्बन्धित अस्पताल में करवाया जा सकता है।
उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत लगभग 38 हजार परिवारों का चयन किया गया था जिसके अंतर्गत लगभग सभी 38 हजार चयनित परिवारों के कार्ड बनाए जाने थे, लेकिन विभाग के तमाम प्रयासों के बावजूद अभी तक 21 हजार परिवारों के कार्ड बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत अभी 17 हजार शेष बचे परिवारों के कार्ड बनाए जाने हैं। जिसके लिए जिला बिलासपुर में गोल्डन कार्ड बनाने हेतु मार्च माह में जिला के 40 विभिन्न स्थानों पर विशेष शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।



उन्होंने बताया कि 5 मार्च को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पंजगाई, प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र मरोतन, पंतेहड़ा और टोबा, 6 मार्च को स्वास्थ्य उपकेंद्र गुगा भटेड (बरमाणा), उप स्वास्थ्य केन्द्र मल्यावर, प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र बुहाड और बैहल, 8 मार्च को उप स्वास्थ्य केंद्र दियोली, ज्योरखास, प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र ऋषिकेश और आर्युवैदिक स्वास्थ्य केद्र मोरसिंगी और 9 मार्च को स्वास्थ्य उपकेद्र कुनाला,  तरसुह, सामुदयिक स्वास्थ्य केन्द्र तलाई और प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र तल्याणा, 10 मार्च को स्वास्थ्य उपकेद्र कोठीपुरा, जंडौरी, प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र पनौल, सामुदयिक स्वास्थ्य केन्द्र हटवाड़ और 12 मार्च को प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र गेहड़वीं, दधोल, तथा उप स्वास्थ्य केंद्र दबट में विशेष शिविर लगाये जा रहे हैं।
उन्होंने चयनित परिवारों से आग्रह किया है कि निर्धारित समय सारिणी के आधार पर शिविरो में पहुंच कर कार्ड बनवाकर योजना का लाभ उठाएं।



उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत चयनित परिवारो को प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज प्रदान किया जायेगा। यह सुविधा फैमिली प्लोटर आधार पर प्रदान की जायेगी अर्थात एक सदस्य या परिवार के सभी सदस्य योजना का लाभ ले सकते हैं और एक परिवार के लिए एक वर्ष में बीमा की राशि 5 लाख रुपये की होगी।
उन्होंने बताया कि परिवार के सभी सदस्य इस योजना के तहत शमिल होने के पात्र हैं। इसमे कोई आयु सीमा निर्धारित नहीं की गई हैं। इस योजना में लगभग 1800 उपचार प्रक्रियाएं कवर की जा रही हैं जिसमें डें- केंयर सर्जरीज भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि अस्पताल में भर्ती होने पर कैशलेस सेवा प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य सुरक्षा केवल पंजीकृत हस्पताल में दाखिल होने की स्थिति में ही मिलेगी।
उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के आधार पर चयनित परिवारो को शामिल किया गया हैं। इसके अतिरिक्त राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभार्थियो को भी इस योजना में शमिल किया गया हैं।
उन्होंने बताया कि इस योजना का कार्ड बनाने के लिए राशन कार्ड, आधार कार्ड, राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड 2014/हाल ही में आशा द्वारा दी गई आईडी, प्रत्येक कार्ड के लिए 30 रुपए फीस निर्धारित की गई है।

 




हमारे वाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करें।

ट्विटर पर हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button