कांगड़ा, किन्नौर, कुल्लूहिमाचल

मुख्य सचिव का साहसिक खेलों को सुनियोजित ढंग से आयोजित करने पर बल

खबर को सुनें

कुल्लू, ।  हिमाचल प्रदेश के मुख्य सचिव अनिल खाची ने कुल्लू तथा लाहौल-स्पिति जिलों के अपने तीन दिवसीय प्रवास के दौरान मनाली के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सोलंग घाटी का दौरा किया। मुख्य सचिव के साथ इस दौरान उपायुक्त डाॅ. ऋचा वर्मा, पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह, एसडीएम रमन घरसंगी सहित अन्य अधिकारी व स्थानीय पंचायतों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। मुख्य सचिव ने कहा कि कुल्लू-मनाली को प्रकृति ने नैसर्गिक सौंदर्य से नवाजा है और यहां का प्रत्येक स्थल रमणीय तथा सैलानियों को लुभावने वाला है। उन्होंने कहा कि जिला में हालांकि अनेक साहसिक खेलों का प्रचलन है, लेकिन इन खेलों को और बड़े पैमाने पर तथा सुनियोजित ढंग से आयोजित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सोलंग घाटी में स्कींईंग के लिए अच्छी ढलानें मौजूद हैं। स्कीइंग जहां स्थानीय युवाओं को रोजगार का जरिया बन सकता है, वहीं सैलानियों के लिए भी पसंदीदा साहसिक खेल है। उन्होंने कहा कि बर्फबारी के दौरान सोलंग नाला में सैलानियों की बहुतायत में आमद रहती है। ऐसे में पर्यटकों के लिए सुविधाओं का सृजन किया जाना जरूरी है। अनिल खाची ने इस अवसर पर जिला प्रशासन तथा स्थानीय पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधियों के साथ विचार-विमर्श करते हुए कहा कि सोलंग में निर्माणाधीन पार्किंग का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि इस पार्किंग को और बेहतर बनाने तथा इसके विस्तार की संभावना का पता लगाया जाना चाहिए ताकि और अधिक वाहनों के लिए पार्किंग की सुविधा उपलब्ध हो सके।


मुख्य सचिव ने सोलंग घाटी में पर्यटकों के लिए और अधिक सुविधाएं सृजित करने के बारे में स्थानीय लोगों से तथा सैलानियों से बात-चीत की और उनके सुझाव भी मांगे। उन्होंने इस संबंध में पर्यटन व्यवसाय से जुड़े समस्त हितधारकों को प्रशिक्षण प्रदान करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर प्रदेश के अनेकों अनछुए पर्यटन गंतव्यों को विकसित करने पर बल दे रहे हैं और इसके लिए उन्होंने नई राहें, नई मंजिलें महत्वाकांक्षी योजना आरंभ की है। उन्होंने कहा कि कुल्लू के समीप लग घाटी को भी इस योजना के तहत विकसित किया जा रहा है और भविष्य में यह घाटी सैलानियों के लिए पंसदीदा स्थलों में उभर कर सामने आएंगी। इससे स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे। अनिल खाची ने सोलंग घाटी में काफी समय व्यतीत किया और पर्यटन को विकसित करने को लेकर जन प्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श करते रहे। उन्होंने कहा कि अटल टनल रोहतांग न केवल कबाईली क्षेत्रों के लोगों के लिए वरदान बनी है, बल्कि कुल्लू जिला व प्रदेश के लिए भी एक बहुत बड़ी धरोहर है।


मुख्य सचिव ने सोलंग घाटी तथा अटल टनल में यातायात व्यवस्था को नियमित करने के बारे में उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देश दिए कि ट्रैफिक को सुचारू तथा सुविधाजनक बनाने के लिए एक सुनियोजित कार्यनीति तैयार की जानी चाहिए ताकि सैलानियों व स्थानीय लोगों को किसी प्रकार की कठिनाईयों व असुविधा का सामना न करना पड़े। इससे पूर्व, मुख्य सचिव ने अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान मनाली के निदेशक कर्नल राणा के साथ बैठक की तथा संस्थान में संचालित साहसिक खेलों के प्रशिक्षण के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने निर्देश दिए कि संस्थान में और अधिक खेलों के प्रशिक्षण की व्यवस्था की जानी चाहिए और साथ ही गुणवत्तायुक्त प्रशिक्षण प्रदान करके स्थानीय युवाओं को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं के लिए तैयार करने को कहा।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button