कांगड़ा, किन्नौर, कुल्लूहिमाचल

कुल्लू में 39,900 लोगों को प्रदान की जा रही है सामाजिक सुरक्षा पेंशनः गोविंद ठाकुर

खबर को सुनें

कुल्लू। वर्तमान प्रदेश सरकार ने बुजुर्गों को सम्मानजनक जीवन यापन करने के उद्देश्य से सामाजिक सुरक्षा पेंशन की आयु को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया जिससे लाखों वरिष्ठजन लाभान्वित हुए। इस साल के बजट में महिलाओं के लिय यह आयुसीमा बिना किसी आय के 65 साल की गई है। यह बात शिाक्षा व कला, भाषा एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज मनाली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत पतली कूहल स्थित अम्बेडकर भवन में जिला कल्याण विभाग द्वारा आयोजित नशामुक्त भारत अभियान की अध्यक्षता करते हुए कही।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि कुल्लू जिला में वर्तमान में कुल 39,900 पात्र लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है। इसमें 19 हजार से अधिक लोग 70 साल से अधिक आयु के शामिल हैं। उन्होंने कहा कि गरीबी की रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों के लिए सरकार की अनेक योजनाएं हैं जिनकी जानकारी ग्रामीण स्तर तक  पहुंचाने के लिए उन्होंने संबंधित विभागों, पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधियों तथा भाजपा के कार्यकर्ताओं से अपील की। उन्होंने कहा कि पात्र लोगों की कागजी प्रक्रिया को पूरा करवाने में भी सहयोग करें ताकि कोई एक भी व्यक्ति लाभ से वंचित न रहे सके।
नशे को समाप्त करने के लिए अपने घर से करें पहल
नशे पर चर्चा करते हुए गोविंद ठाकुर ने कहा कि कोई भी अभियान लोगों के सहयोग के बिना सफल नहीं होता। यदि समाज से नशे जैसी बुराई को समाप्त करना है तो जरूरी है कि सबसे पहले इसकी शुरूआत अपने घर से की जाए। उन्होंने कहा कि सिंथेटिक नशे का चलन युवाओं के लिए जानलेवा है और इससे बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि अनेक विभाग व संस्थाएं समाज से नशे जैसी बुराई को समाप्त करने के लिए सरकार के निर्देशानुसार कार्य कर रहे हैं। समाज में जागरूकता उत्पन्न की जा रही है, लेकिन इसके सार्थक परिणाम आने बाकी हैं। उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि वे अपनी ऊर्जा को रचनात्मक कार्यों में लगाएं, नशे जैसी बुराई से अपने आपको दूर रखें।

कोरोना से बचने के लिए मास्क सबसे बड़ा सुरक्षा कवच
शिक्षा मंत्री ने कहा कि पिछले साल कोरोना संकट के चलते लोगों से मेलजोल और सीधा संवाद करने में कठिनाई आई। निर्माण और विकास के कार्य भी प्रभावित हुए। पिछले कुछ महीनों में कोरोना काबू मंे आ जाने पर फिर से विकास के कार्यों को गति प्रदान की गई है और विधानसभा क्षेत्र के लोगों से उनके घर-द्वार पर जाकर संवाद करने के प्रयास किए जा रहे हैं। लोगों से बात करके उनकी समस्याओं की भी जानकारी प्राप्त होती है और इनके समाधान का रास्ता भी निकलता है। गोविंद ठाकुर ने कहा कि कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं और सभी लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि केवल मास्क का उपयुक्त प्रयोग ही इस महामारी से बचा सकता है। प्रदेश सरकार ने एहतियाती कदम उठाते हुए भीड़-भाड़ करने पर रोक लगाई है और किसी भी समारोह में 200 से अधिक लोग एकत्र नहीं होंगे। उन्होंने कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लोगों से सरकार के दिशा-निर्देशों की ईमानमादी के साथ अनुपालना करने की अपील की है।

67 महिलाओं को वितरित की सिलाई मशीनें
गोविंद ठाकुर ने अनुवर्ती कार्यक्रम के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र कुल्लू व मनाली की 67 महिलाओं को सिलाई मशीनें वितरित की। उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए ये मशीनें स्वरोजगार का जरिया हैं और महिलाएं घरेलू काम-काज के साथ सिलाई का कार्य करके अपनी आर्थिकी को मजबूत कर सकती हैं।

गृह अनुदान योजना के 57 परिवारों को स्वीकृत की 75000 की पहली किश्त
शिक्षा मंत्री ने कुल्लू व मनाली विधानसभा क्षेत्रों के 57 परिवारों को गृह अनुदान योजना के तहत प्रत्येक को 75000 रुपये की पहली किश्त के स्वीकृति पत्र वितरित किए। इस योजना के तहत लाभार्थी को मकान बनाने के लिए 1.50 लाख रुपये की राशि प्रदान की जाती है। प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष धनेश्वरी ठाकुर ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना, आयुष्मान भारत व हिमकेयर योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने लोगों से हिमकेयर योजना के तहत अपना पंजीकरण लोकमित्र केन्द्रों में करवाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि बंदरोल में जवाहर नवोदय विद्यालय और काईस में पाॅलिटैक्निकल गोविंद ठाकुर की देन है जहां हजारों बच्चे लाभान्वित हो रहे हैं।
खण्ड विकास समिति के अध्यक्ष कुंदन ठाकुर ने कहा कि कृषि व बागवानी के शिविर ग्राम पंचायत स्तर पर लगाए जाने चाहिए ताकि बागवान नई तकनीकें सीखकर अच्छी किस्म के बागान तैयार कर सकें।

जिला अस्पताल के डाॅ. सत्यव्रत वैद्य ने कहा कि नशा एक बीमारी है और इसका निश्चित तौर पर उपचार कुल्लू अस्पताल में है। यह उपचार निःशुल्क किया जाता है। उन्होंने कहा कि अस्पताल वर्ष 2017 से अभी तक लगभग 6 हजार लोगों को नशे की लत से बाहर करने में सफल हुआ है। उन्होंने लोगों से अपील की कि यदि कोई नशे का आदी हो चुका है तो उसे क्षेत्रीय अस्पताल तक लाने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि सिंथेटिक नशा युवाओं को शारीरिक व मानसिक रूप से नुकसान पहुंचा रहा है और उन्हें इससे बाहर निकलने का कोई विकल्प नजर नहीं आता है। उन्होंने अभिभावकों से आग्रह किया कि वे अपने बच्चों पर नजर रखें, उन्हें अनावश्यक अधिक पैसा न दें और बच्चों के साथ दोस्ताना व्यवहार करें।
खण्ड विकास अधिकारी मुकेश ने कहा कि मनरेगा में पंचायतों के माध्यम से 260 कार्य किए जा सकते हैं। उन्होंने लोगों से मनरेगा में अपनी भूमि के विकास, पौधरोपण जैसे कार्यों की शैल्फें डलवाने को कहा। उन्होंने मनरेगा में काम करने के लिए आगे आने को भी कहा। बाल विकास परियोजना अधिकारी गजेन्द्र ठाकुर ने बेटी है अनमोल योजना के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। इससे पूर्व, जिला कल्याण अधिकारी समीर चंद ने स्वागत किया। उन्होंने कल्याण विभाग के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजाओं की जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि नशामुक्त भारत अभियान जो देश के 272 जिलों में चलाया जा रहा है, उनमें कुल्लू भी एक है। उन्होंने कहा कि जिला में एक कार्य योजना तैयार की गई है और लोगों को विभिन्न प्रकार के शिविरों व कार्यक्रमों के माध्यम से नशे की बुराईयों के प्रति जागरूक किया जा रहा है। विशेष बल बाहर से नशे की खेप को रोकने पर दिया गया है। भाजपा मण्डलाध्यक्ष दुर्गा सिंह ठाकुर, जिला महामंत्री अखिलेश कपूर, प्रधान गीता देवी, बडाग्राम की प्रधान कौशल्या, मण्डलाध्यक्षा बिंदु ठाकुर, के अलावा विजय, तारा व शीतल तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button