राजनीति
Trending

विधानसभा के बाहर लगे पोस्टरों के खिलाफ “आप” का विरोध प्रदर्शन

खबर को सुनें

कांगड़ा। मंगलवार को आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने जिला अधीक्षक के माध्यम से विधान सभा परिसर में लगे झंडों के खिलाफ माननीय राज्यपाल को ज्ञापन भेजा। आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश ने इस संदर्भ में मुख्यमंत्री को आड़े हाथों लिया।  जिसमें राजीव अंबिया ने कहा की विधान सभा राज्य का दिल होता है यहाँ से समूचे प्रदेश की नीति बनाई जाती है और प्रदेश के स्पूर्द की जाती है । उसी पर इस तरह के हमले करना या झंडे फहराना व स्लोगन लिखना प्रदेश सरकार की नाकामी है ,यदि सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होते तो यह सब नहीं होता, पर धर्मशाला परिसर में विधान सभा भवन की अनदेखी करना सरकार की काबिलियत पर प्रशंचिन्ह लगाती है । अंबिया ने कहा एक तरफ सरकार झूठे दावे करती है और दूसरी तरफ एक के साथ कई बरदातें सामने मिलने को आ रही हैं। क्या विधान सभा परिसर मे इस तरह की घटना सोची समझी साजिश नहीं है , क्या यह पुलिस भर्ती की चल रही धांधली का ध्यान भटकाने के लिए किया जा रहा।

इसी मुद्दे पर बात करते हुए नगरोटा के उभरते हुए नेता उमाकांत डोगरा ने सीधे शब्दों में कहा की इस तरह का होना अति निदंनीय है व मौजूदा सरकार की नाकामी का जीता जागता सबूत है।  शउन्होंने सीधे तौर पर सरकार से पूछा है की यह भाजपा सरकार इस बात पर जबाब दे की इस तरह प्रकरण पर उन्होंने क्या एक्शन लिया या क्या एक्शन प्लान है।  डोगरा ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस तरह की कृत्य की आम आदमी पार्टी कड़ी निंदा करती है और यदि दोषियों को सज़ा न मिली तो शिमला विधान सभा का घेराब किया जाएगा। इस मौके पर विकास धीमान अध्यक्ष जवालामुखी विधानसभा ने कहा कि प्रदेश के गौरव पर इस तरह का हमला होना प्रदेश सरकार के साथ साथ समूचे प्रदेश की सुरक्षा पर प्रशंचिन्ह लगता है । हिमाचल प्रदेश शांति और प्यार का प्रतिक है अगर कोई भी देश विरोधी ताकत हिमाचल प्रदेश का माहोल खराब करता है तो उसे बक्शा न जाए। आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश की ओर से धर्मशाला मे जिलाभर के कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया जिसमे डॉ गुरचरण , देश राज, विकास धीमान ,सुशील कुमार भूपिंदर सिंह, सीता राम भाटिया, महिंदर कुमार, विक्रम चांद कौंडल, अनीता कुमारी एक्स प्रधान स्रोतरी नोगरोटा ,नरेश कुमार,विक्रम मेहरा ,सतपाल,आदि ने अपनी उपस्थिति  दर्ज करवाई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button